दश महाविद्या – Das Mahavidya

दश महाविद्या (Dash Mahavidya) वस्तुतः आदि शक्ति के ही दस अलग-अलग स्वरूपों को कहते हैं। दश महाविद्या की साधना का हिंदू धर्म में बहुत महत्व है। आदि शक्ति का प्रत्येक रूप अपने आप में विशेष है और उनकी पूजा का भिन्न-भिन्न फल होता है। 10 महाविद्या (10 Mahavidya) की भक्तिपूर्वक की गयी साधना जीवन में सब कुछ देने में सक्षम है। इन महाविद्याओं की उपासना जैन और बौद्ध तंत्र में भी बेहद प्रचलित है। इसका कारण यह है कि दस महाविद्या (Das Mahavidya) की साधना सकाम और निष्काम दोनों ही रूपों में की जा सकती है।

काली माता – Kali Mata

1. काली माता

काली माता दश महाविद्याओं में प्रथम हैं। वे भक्तों को अनन्त सिद्धियाँ प्रदान करती हैं। पढ़ें मां काली की कथा, पूजा आदि समस्त जानकारियाँ।

तारा देवी – Maa Tara

2. तारा देवी

तारा देवी दस महाविद्याओं में द्वितीय हैं। शत्रुनाश, वाक्-शक्ति व भोग-मोक्ष की प्राप्ति के लिये तारा अथवा उग्रतारा की साधना की जाती है।

छिन्नमस्ता देवी – Chinnamasta Devi

3. छिन्नमस्ता देवी

छिन्नमस्ता देवी दस महाविद्याओं में तृतीय हैं। शत्रु-विजय, समूह-स्तंभन, राज्य व मोक्ष की प्राप्ति के लिये छिन्नमस्ता माता की उपासना अमोघ है।

षोडशी महाविद्या – Shodashi Devi

4. षोडशी महाविद्या

षोडशी महाविद्या का दस महाविद्याओं में चौथा स्थान है। षोडशी देवी भोग और मोक्ष दोनों देने वाली हैं। श्री चक्र के रूप में इनकी उपासना होती है।

भुवनेश्वरी देवी – Bhuvneshwari Maa

5. भुवनेश्वरी देवी

भुवनेश्वरी देवी दश महाविद्याओं में पंचम हैं। भुवनेश्वरी मां भक्तों को अभय और सभी सिद्धियाँ प्रदान करती हैं। पढ़ें माँ से जुड़ी सभी जानकारियाँ।

त्रिपुरभैरवी देवी – Tripur Bhairavi Devi

6. त्रिपुरभैरवी देवी

त्रिपुरभैरवी देवी दश महविद्याओं में षष्ठ हैं। मां त्रिपुरभैरवी की साधना का मुख्य उपयोग घोर कर्म में होता है। पढ़ें समस्त जानकरियाँ हिंदी में।

धूमावती माता – Dhoomavati Mata

7. धूमावती माता

धूमावती माता दश महाविद्याओं में सातवीं हैं। धूमावती माता की उपासना विपत्ति नाश, रोग-निवारण, युद्ध-जय, उच्चाटन तथा मारण आदि के लिये होती है।

बगलामुखी – Maa Baglamukhi

8. बगलामुखी देवी

बगलामुखी माता 10 महाविद्याओं में आठवीं हैं। बगलामुखी देवी की साधना शत्रु भय से मुक्ति और वाक्-सिद्धि देने वाली है। पढ़ें समस्त जानकारियाँ।

मातंगी देवी (दश महाविद्या में नवम) – Matangi Devi

9. मातंगी देवी

मातंगी देवी दश महाविद्याओं में नौवीं हैं। विशेषतः वाक्-सिद्धि के लिए माँ की उपासना की जाती है। पढ़ें मातंगी माता से जुड़ी समस्त जानकारियाँ।

कमला देवी (दश महाविद्या में दशम) – Kamla Mata

10. कमला देवी

कमला देवी दश महाविद्याओं में दसवीं हैं। ये सभी भौतिक सम्पत्ति की अधिष्ठात्री देवी हैं। ऐसा कुछ नहीं, जो माँ की पूजा से प्राप्त न हो सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: यह सामग्री सुरक्षित है !!