स्वामी विवेकानंद कृत राजयोग पर छः पाठ: Swami Vivekananda’s Six Lessons On Raja Yoga in Hindi

“राजयोग पर छः पाठ” नामक यह पुस्तक राजयोग पर छोटे-छोटे छः व्याख्यानों का सङ्कलन है। ये भाषण स्वामी विवेकानंद ने श्रीमती सारा सी. बुल के निवास-स्थान पर दिए थे। “राजयोग पर छः पाठ” में योग के विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश डाला गया है। उस समय श्रीमती बुल ने इन्हें लिख लिया था। सन् १९१३ में इन्हें आपस में वितरण के लिए प्रकाशित किया गया था। पढ़ें और योग पर अपनी समझ को विस्तार दें –

स्वामी विवेकानंद कृत “राजयोग पर छः पाठ” की अनुक्रमणिका
Index of “Rajyog Par Chhah Path” in Hindi

  1. प्रस्तावना (Introduction In Hindi)
  2. प्रथम पाठ (First lesson on Yoga in Hindi)
  3. द्वितीय पाठ (Second lesson on Yoga in Hindi)
  4. तृतीय पाठ (Third lesson on Yoga in Hindi)
  5. चतुर्थ पाठ (Fourth lesson on Yoga in Hindi)
  6. पञ्चम पाठ (Fifth lesson on Yoga in Hindi)
  7. षष्ठ पाठ (Sixth lesson on Yoga in Hindi)

“राजयोग पर छः पाठ” को स्वामी विवेकानंद के संपूर्ण साहित्य से लिया गया है। इन पाठों में गागर में सागर की तरह संक्षेप में योग साधना के आवश्यक अंगों का विवरण है। वस्तुतः, इनमें स्वामी विवेकानन्द बता रहे हैं कि योग को अपने जीवन में कैसे उतारा जाए। “राजयोग पर छः पाठ” इससे पहले इंटरनेट पर हिंदी में उपलब्ध नहीं थी। राज योग पर इस पुस्तक को जनसाधारण के सम्मुख प्रस्तुत करते हुए हमें हर्ष का अनुभव हो रहा है।

The Hindi version of the complete works of Swami Vivekananda contains “Rajyog Par Chhah Path”. Mrs. Sara C. Bull transcribed these “Six Lessons On Raja Yoga”. Later, in 1913, these lessons were published for distribution.

These lessons contain in-depth analysis of Yoga science. In other words, you will understand Yoga from Swami Ji’s viewpoint. As far as Yoga is concerned, it is very important to understand its basics. In addition, if you do not understand the basics, it gets very difficult to practice advanced Yoga. Hence, I feel it is a must to study these lessons. Above all, you will get the hold of the important ideas of Yoga science.

In the past, these lessons were not available in Hindi, therefore we are very pleased to bring these lessons in front of you. In conclusion, I believe these lessons will prove to be very beneficial for Hindi readers.

स्वामी विवेकानंद की अन्य किताबें
Other Swami Vivekananda Books In Hindi

  1. कर्मयोग (Karma Yoga)
  2. राजयोग (Rajyog)
  3. व्यावहारिक जीवन में वेदांत (Vyavharik Jeevan Mein Vedanta)

4 thoughts on “स्वामी विवेकानंद कृत राजयोग पर छः पाठ: Swami Vivekananda’s Six Lessons On Raja Yoga in Hindi

  • Pingback: राजयोग पर द्वितीय पाठ – स्वामी विवेकानंद - हिंदी पथ

  • April 26, 2020 at 4:55 pm
    Permalink

    Shriman aapka bahut bahut aabhar …..ki aapne swami vivekanand ke mahan vicharon ko hindi ke madhyam se jan jan tak pahunchane ka sankalp kiya….aapko meri aur se koti-koti dhanyawad.
    Kripya in kitabon ko pdf mein download karne ka koi vikalp ho to batayein…

    Reply
    • April 29, 2020 at 8:23 pm
      Permalink

      पुष्पराज जी, उत्साह बढ़ाने के लिए आपका अनेकानेक धन्यवाद। हमारा सङ्कल्प है कि शीघ्रातिशीघ्र स्वामी विवेकानंद की सभी किताबें इंटरनेट पर हिंदी में उपलब्ध कराई जा सकें, ताकि अधिक-से-अधिक लोग उनके विचारों से लाभान्वित हो सकें। जहाँ तक पीडीएफ में पुस्तकें उपलब्ध कराने की बात है, तो निश्चित ही आपके आदेश पर अमल किया जाएगा। इसी तरह हिंदीपथ पढ़ते रहें और अपने अमूल्य सुझावों से हमारा पथ-प्रदर्शन करते रहें।

      Reply
  • Pingback: राजयोग पर तृतीय पाठ – स्वामी विवेकानंद - हिंदी पथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: यह सामग्री सुरक्षित है !!