ताज महल का रहस्य – ताजमहल है हिंदू मंदिर

Taj Mahal Is A Hindu Temple In Hindi By P.N. Oak

क्या ताज महल एक हिंदू मंदिर है? क्या इसका निर्माण शाहजहाँ ने नहीं किया था? आगरा स्थित यह तथाकथित मुग़ल इमारत क्या वाक़ई तेजोमहालय नाम का एक शिव मन्दिर है? यदि यह सत्य है तो इसके क्या प्रमाण हैं? इसे किस हिन्दू राजा ने बनवाया था? किन प्राचीन ग्रंथों में इसके साक्ष्य उपलब्ध हैं? इन सभी प्रश्नों का उत्तर देने का प्रयत्न करती है पी.एन. ओक की प्रसिद्ध पुस्तक “ताजमहल मंदिर भवन है”, जिसमें उन्होंने इस दृष्टिकोण को लेकर हर मुद्दे पर अपना मत रखा है। यहाँ उन्हीं बातों को सिलसिलेवार तरीक़े से संक्षेप में प्रस्तुत किया जा रहा है। हमें पता नहीं कि इन बातों में कितना सच है, लेकिन कई चीज़ें सोचने पर ज़रूर मजबूर करती हैं। पढ़िए यह लघु पुस्तिका और जानिए ताजमहल का रहस्य क्या है पी.एन. ओक के नज़रिए से।

“ताजमहल है हिंदू मंदिर” की विषय-सूची
The Taj Mahal Is A Temple Palace In Hindi: Index

  1. तेजोमहालय शिव मंदिर है “ताज महल”
  2. ताज महल के मंदिर होने संबंधी दस्तावेज़
  3. ताज को लेकर यूरोपियन पर्यटकों के वृत्तांत
  4. हाथी की मूर्तियाँ
  5. स्थापत्य के साक्ष्यों से मंदिर होने की पुष्टि
  6. प्रचलित भ्रामक बातें
  7. मुमताज से जुड़ी तारीख़ों में त्रुटियाँ
  8. शाहजहाँ-मुमताज के प्यार का झूठ
  9. ताजमहल के निर्माण का हिसाब-किताब
  10. निर्माण की अवधि
  11. वास्तुकारों के मनगढ़ंत नाम
  12. ताज महल के नक्शे कहाँ हैं?
  13. मज़दूरी और सामग्री के दस्तावेज़ नदारद
  14. बग़ीचे में पवित्र हिंदू पुष्प वृक्ष
  15. ताज के निकट यमुना तट हिंदू मंदिरों की पहचान
  16. गुंबद का हिंदू वैशिष्ट्य
  17. मुर्दे का टीला कब्र कहलाती है, न कि महल
  18. हिंदू देवी-देवताओं की मूर्तियाँ ताज महल में
  19. शाहजहाँ से पहले ताजमहल के उल्लेख
  20. छत्रपति शिवाजी रहे थे ताज महल के समीप?
  21. तेजोमहालय का “श्री” द्वार और आनंद वाटिकाएँ
  22. आगरे के क़िले में लगे शीशे
  23. शाहजहाँ का काल था अन्याय व दरिद्रता का युग
  24. ताज महल को लेकर नक़ली दस्तावेज़

2 मार्च 1917 को इंदौर में जन्मे श्री पुरुषोत्तम नागेश ओक कई पुस्तकें लिख चुके हैं। द्वितीय विश्व-युद्ध के दौरान वे सिंगापुर में नियुक्त रहे हैं। इसके बाद उन्होंने सुभाषचन्द्र बोस की आज़ाद हिंद फ़ौज में हिस्सा लिया और सौगौन में आज़ाद हिन्द रेडियो में निदेशक का पद संभाला। भारत की स्वतंत्रता के बाद उन्होंने हिंदुस्तान टाइम्स और स्टेट्समैन जैसे अख़बारों में पत्रकारिता की तथा भारत सरकार के सूचना प्रसारण मंत्रालय में भी काम किया। दुनिया भर में और देश के विभिन्न भागों में घूमते हुए उन्होंने ऐतिहासिक स्थानों का गहरा अध्ययन किया और इसी दौरान पुरातात्विक मामलों में धीरे-धीरे उनकी संकल्पनाएँ विकसित हुईं। इन्हीं विषयों पर उन्होंने बहुत-सी किताबें भी लिखीं। प्रस्तुत पुस्तक का सारांश इनमें से एक किताब पर आधारित है, जिसका ज़िक्र ऊपर किया ही जा चुका है।

Is Taj Mahal a Hindu temple? Did Shah Jahan build it? Is this so-called Mughal architectural wonder a Shiva temple in reality? If it is true, what are the evidences in this regard? Was there a Hindu king who built Taj? Are there any old books that prove it? P.N. Oak’s book “The Taj Mahal Is A Temple Palace” tries to answer all of these questions. Read the summary of this book here, which may force you to rethink history as it is written. Find out Taj Mahal Ka Rahasya: The Secret Of Taj Mahal.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: यह सामग्री सुरक्षित है !!