आज का सुविचार – Aaj Ka Suvichar

“आज का सुविचार” नामक यह पोस्ट लेकर हम आपके सामने हाज़िर हैं। विचार ही वह शक्ति है, जो स्वयं को अभिव्यक्त करके जीवन को आकार देती है। प्रतिदिन आज का सुविचार पढ़ने से विचार सकारात्मक होते हैं तथा प्रकारान्त से जीवन श्रेष्ठता व उन्नति की ओर बढ़ने लगता है। कोई महान व्यक्ति महान इसीलिए होता है क्योंकि उसके विचार महान होते हैं। यही सुविचार उसके कर्मों को भी रूपान्तरित करके महान बना देते हैं।

आज का सुविचार पहले आपके विचारों को सत्-वृत्ति से परिपूर्ण करेगा और फिर धीरे-धीरे इसका प्रभाव आपके जीवन में उतरेगा। समय के साथ आपका जीवन भी सद्गुणों से संपन्न होता जाएगा। “आज का सुविचार” नामक इस पृष्ठ से आप न केवल अपने जीवन को उन्नत कर सकते हैं, बल्कि इन्हें शेअर कर दूसरों के जीवन में भी प्रकाश व दिव्यता का संचार कर सकते हैं। पढ़ें आज का सुविचार–

”एक बात जरूर नोट कर लो आज का दर्द ही कल की जीत है।”

”मौन किसी इंसान की कमजोरी नहीं, उसका बड़प्पन होता है वरना जिसको सहना आता है उसको कहना भी आता है।”

”कलम तभी साफ और अच्छा लिख पाती है जब वो थोड़ा झुक के चलती है, वही हाल ”जिंदगी” मै इंसान का है।”

”होशियार होना अच्छी बात है पर दुसरो को मुर्ख समझना बेवकूफी है।”

”दरवाजे पर ”ताला” इसलिए लगाया जाता है, जिससे ईमानदार व्यक्ति का ईमान ना डगमगाए वरना चोर के लिए ”ताला” तोड़ना कौन सी बड़ी बात है।”

“सुबह की नींद इंसान के इरादों को कमजोर बनाती है, मंजिल को हासिल करने वाले कभी देर तक सोया नही करते।”

“जिंदगी इतनी मुश्किल इसलिए है क्योंकि लोग आसानी से मिली चीज की कीमत नहीं जानते।”

“आप तब तक नहीं हार सकते, जब तक आप प्रयास करना नहीं छोड़ देते…..”

”बड़ा आदमी वह है जो अपने पास बैठे व्यक्ति को छोटा महसूस ना होने दे!”

”कमाल के लोग हैं टाइम किसी के पास नहीं है लेकिन टाइम पास सब कर रहे है।”

”कहते हैं कि वक़्त सरे घाव भर देता है, पर सच तो ये है कि हम दर्द के साथ जीना सीख लेते है।”


”मतलब की बात सब समझ लेते है लेकिन बात का मतलब बहुत कम लोग ही समझ पाते है।”


”ज़माने में जितनी भींड़ बढ़ती जा रही है, लोग उतने ही अकेले होते जा रहे है।”

”समंदर बड़ा होकर भी अपनी हद में रहता है, इंसान छोटा होकर भी अपनी हद भूल जाता है।”

”सब्र करो, बुरे दिन का भी एक दिन बुरा वक़्त आता है।”

”धन का घमंड दो ही लोगो को होता है।
1. ”जिसे खानदानी जायदाद मिली हो।”
2. ”जिसने धोखे से पैसा कमाया हो।”

”अपनी गलती माने बिना, आप कभी भी बेहतर नहीं बन सकते।”

”हर व्यक्ति अपने कार्यों से महान बनता हैं, अपने जन्म से नहीं।”

”हमेशा दूसरों की सफ़लता के बारे में जानने के बजाए ख़ुद की सफलता पर काम करना चाहिए।”

”हमेशा दूसरों की सफ़लता के बारे में जानने के बजाए ख़ुद की सफलता पर काम करना चाहिए।”

”रिश्ते जब मजबूत होते हैं बिन कहे महसूस होते हैं।”

हर व्यक्ति अपने कार्यों से महान बनता हैं, अपने जन्म से नहीं। 

“थक गया था सब की परवाह कर कर के, बड़ा सुकून सा है जब से लापरवाह हुआ हूँ।”

“दोस्तों मेहनत से मोहब्बत करो, क्योंकि यह तुम्हारी कामयाबी की वजह बनेगा।”

“दिल समंदर जैसा रखना साहब, देखना नदियाँ खुद ही मिलने आयेगी।”

“ऊँचाई पर वही पहुँचते है, जो बदला नहीं बदलाव लाने की सोच रखते है।”

“एक मिनट लगता है रिश्तों का मज़ाक उड़ाने में, लेकिन हम भूल जाते है जिंदगी रिश्तों से ही सजती और सँवरती है।”

”सपना एक देखोगे, मुश्किल हजार आएगी लेकिन वो मंजर बड़ा खूबसूरत होगा जब क़ामयाबी सोर मचाएगी।”

“शतरंज का एक नियम बहुत ही उमदा है, चाल कोई भी चलो पर अपनों को नहीं मार सकते।”

“जिंदगी इतनी मुश्किल इसलिए है क्योंकि लोग आसानी से मिली चीज की कीमत नहीं जानते।”

”खुद को माचिस की तिली की तरह मत बनाओ, जो थोड़े से घर्षण से सुलग जाती है, बनाना है तो खुद को शांत सरोवर की तरह बनाओ, जिसमें अगर कोई अंगारा भी फेंके तो वो भी बुझ जाए।”

”घर बड़ा हो या फिर छोटा, अगर घर में मिठास न हो तो इंसान तो क्या घर में चींटियां भी नही आती है।”

”समझनी है जिंदगी तो पीछे देखो अगर जीनी है जिंदगी तो आगे देखों।”

”जितने का मज़ा तब आता है जब सभी लोग आपके हारने का इंतजार कर रहे हो।”

”जिंदगी में चुनौतियां हर किसी के हिस्से में नही आती क्योंकि किस्मत भी किस्मत वालों को ही आजमाती है।”

”इज्जत भी मिलेगी दौलत भी मिलेगी, सेवा करो मां-बाप की जन्नत भी मिलेगी।”

”ताकत आवाज में नही अपने विचारो में रखो क्योंकि फसल बारिश से होती है बाढ से नही।”

”जहां तक रास्ता दिख रहा है वहां तक चलिए, आगे का रास्ता वहां पहुंचने के बाद दिखने लगेगा।”

”अगर आप अपनी गलतियों से सीख़ लेते है तो गलतियाँ आपके लिए सीढ़ी है।”

”जिंदगी ने मुझे एक चीज सिखा दी, अपने आप में खुश रहना और किसी से कोई उम्मीद ना रखना।”

जिंदगी ऐसे जिओ की अगर कोई आपकी बुराई भी करे तो दूसरा उस पर विश्वास न करें।

”में हमेशा खुश रहता हूं क्योंकि में किसी से कोई उम्मीद नही रखता, उम्मीदें हमेशा दर्द देती है।”

“वक्त आपका है चाहो तो सोना बना लो और चाहो तो सोने में गुजार दो।”

“अच्छा काम करते रहो चाहे कोई सम्मान करे या न करे क्योंकि सूर्योदय तब भी होता है जब करोड़ों लोग सोए रहते है।”

“जो लोग आपसे जलते है उनसे नफरत कभी न करे क्योंकि वही तो वो लोग है जो यह समझते है कि आप उनसे बेहतर है।”

जिन लोगों को अपने कदमों कि काबिलियत पर विश्वास होता है वो ही लोग अक्सर अपनी मंजिल तक पहुंचते है।

“धीरे ही सही लेकिन हमेशा चलते ही रहों क्योंकि एक समय के बाद ठहरा हुआ पानी भी सड़ने लग जाता है।”

सन्दीप शाह

सन्दीप शाह दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक हैं। वे तकनीक के माध्यम से हिंदी के प्रचार-प्रसार को लेकर कार्यरत हैं। बचपन से ही जिज्ञासु प्रकृति के रहे सन्दीप तकनीक के नए आयामों को समझने और उनके व्यावहारिक उपयोग को लेकर सदैव उत्सुक रहते हैं। हिंदीपथ के साथ जुड़कर वे तकनीक के माध्यम से हिंदी की उत्तम सामग्री को लोगों तक पहुँचाने के काम में लगे हुए हैं। संदीप का मानना है कि नए माध्यम ही हमें अपनी विरासत के प्रसार में सहायता पहुँचा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: यह सामग्री सुरक्षित है !!