जगन्नाथ संध्या आरती – Jagannath Sandhya Aarti

जगन्नाथ संध्या आरती का विशेष महत्व माना जाता है। संपूर्ण सृष्टि के स्वामी भगवान श्री विष्णु के ही रूप श्री कृष्ण को यह आरती समर्पित है। जगन्नाथ संध्या आरती–जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है–शाम के समय गायी जाती है। सायंकाल नित्यप्रति इसके गायन से निश्चित ही भगवान जगन्नाथ प्रसन्न होते हैं। जगन्नाथ संध्या आरती भगवान माधव की कृपा आकर्षित करती है और जीवन के पथ को उनकी भक्ति से सुगम बनाती है। नारायण तो भक्त-वत्सल हैं और सदैव अपने भक्तों के भार को वहन करते हैं। पढ़ें अन्तःकरण में भक्ति की धारा प्रवाहित करने वाली यह जगन्नाथ संध्या आरती–

यह भी पढ़ें – नारायण स्तोत्र

अनंत रूप अन्नांत नाम
अनंत रूप अन्नांत नाम,
अनंत रूप अन्नांत नाम,
आधी मूला नारायाणा

आधी मूला नारायाणा
अनंत रूप अन्नांत नाम,
अनंत रूप अन्नांत नाम,
आधी मूला नारायाणा
आधी मूला नारायाणा

विस्वा रूपा विस्वा धारा
विस्वा रूपा विस्वा धारा
विस्ववयापका नारायाणा
विस्ववयापका नारायाणा
विस्वा तेजसा प्रज्ञा स्वरूपा
विस्वा तेजसा प्रज्ञा स्वरूपा

हे ढाया सिंधो कृष्णा हे ढाया
अनंता सयाना हे जगाना
अनंता सयाना हे जगानाथा
कमला नयना हे माधवा
कमला नयना हे माधवा
करुणा सागरा कालिया नर्धना
करुणा सागरा कालिया नर्धना

हे ढाया सिंधो कृष्णा
हे ढाया सिंधो कृष्णा
हे कृपा सिंधो कृष्णा

हे कृपा सिंधो कृष्णाअनंत रूप अन्नांत नाम,
अनंत रूप अन्नांत नाम,
आधी मूला नारायाणा
आधी मूला नारायाणा

विदेशों में बसे कुछ हिंदू स्वजनों के आग्रह पर जगन्नाथ संध्या आरती (Jagannath Sandhya Aarti) को हम रोमन में भी प्रस्तुत कर रहे हैं। हमें आशा है कि वे इससे अवश्य लाभान्वित होंगे। पढ़ें जगन्नाथ संध्या आरती रोमन में–

anaṃta rūpa annāṃta nāma
anaṃta rūpa annāṃta nāma,
anaṃta rūpa annāṃta nāma,
ādhī mūlā nārāyāṇā

ādhī mūlā nārāyāṇā
anaṃta rūpa annāṃta nāma,
anaṃta rūpa annāṃta nāma,
ādhī mūlā nārāyāṇā
ādhī mūlā nārāyāṇā

visvā rūpā visvā dhārā
visvā rūpā visvā dhārā
visvavayāpakā nārāyāṇā
visvavayāpakā nārāyāṇā
visvā tejasā prajñā svarūpā
visvā tejasā prajñā svarūpā

he ḍhāyā siṃdho kṛṣṇā he ḍhāyā
anaṃtā sayānā he jagānāthā
anaṃtā sayānā he jagānāthā
kamalā nayanā he mādhavā
kamalā nayanā he mādhavā
karuṇā sāgarā kāliyā nardhanā
karuṇā sāgarā kāliyā nardhanā

he ḍhāyā siṃdho kṛṣṇā
he ḍhāyā siṃdho kṛṣṇā
he kṛpā siṃdho kṛṣṇā
he kṛpā siṃdho kṛṣṇā

anaṃta rūpa annāṃta nāma,
anaṃta rūpa annāṃta nāma,
ādhī mūlā nārāyāṇā
ādhī mūlā nārāyāṇā

यह भी पढ़ें

सन्दीप शाह

सन्दीप शाह दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक हैं। वे तकनीक के माध्यम से हिंदी के प्रचार-प्रसार को लेकर कार्यरत हैं। बचपन से ही जिज्ञासु प्रकृति के रहे सन्दीप तकनीक के नए आयामों को समझने और उनके व्यावहारिक उपयोग को लेकर सदैव उत्सुक रहते हैं। हिंदीपथ के साथ जुड़कर वे तकनीक के माध्यम से हिंदी की उत्तम सामग्री को लोगों तक पहुँचाने के काम में लगे हुए हैं। संदीप का मानना है कि नए माध्यम ही हमें अपनी विरासत के प्रसार में सहायता पहुँचा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: यह सामग्री सुरक्षित है !!