महाभारत का अनुशासन पर्व – Mahabharat Anushasan Parv in Hindi

अनुशासन पर्व महाभारत का तेरहवा पर्व है। इसमें दो उपपर्व हैं। महाभारत के अन्य पर्व पढ़ने के लिए कृपया यहाँ देखें – संपूर्ण महाभारत की कथा

आइए, पढ़ते हैं महाभारत का अनुशासन पर्व संस्कृत श्लोकों और उनके हिंदी अर्थ के साथ–

अनुशासन पर्व के उपपर्व

  1. दान-धर्म-पर्व
  2. भीष्मस्वर्गारोहण पर्व

सन्दीप शाह

सन्दीप शाह दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक हैं। वे तकनीक के माध्यम से हिंदी के प्रचार-प्रसार को लेकर कार्यरत हैं। बचपन से ही जिज्ञासु प्रकृति के रहे सन्दीप तकनीक के नए आयामों को समझने और उनके व्यावहारिक उपयोग को लेकर सदैव उत्सुक रहते हैं। हिंदीपथ के साथ जुड़कर वे तकनीक के माध्यम से हिंदी की उत्तम सामग्री को लोगों तक पहुँचाने के काम में लगे हुए हैं। संदीप का मानना है कि नए माध्यम ही हमें अपनी विरासत के प्रसार में सहायता पहुँचा सकते हैं।

2 thoughts on “महाभारत का अनुशासन पर्व – Mahabharat Anushasan Parv in Hindi

  • August 30, 2021 at 6:12 pm
    Permalink

    कहा पढ़ना चाहिए?

    Reply
    • September 20, 2021 at 12:39 pm
      Permalink

      टिप्पणी करने के लिए धन्यवाद। महाभारत पर हमारा कार्य अभी चल रहा है। शीघ्र ही संपूर्ण महाभारत कथा हिंदीपथ पर पढ़ी जा सकेगी। साथ ही वाल्मीकि रामायण, श्रीमद्भागवत् व संपूर्ण वैदिक साहित्य भी जल्दी ही आपके समक्ष प्रस्तुत किया जाएगा। इसी तरह हिंदीपथ पढ़ना जारी रखें और हमारा मार्गदर्शन करें।

      Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: यह सामग्री सुरक्षित है !!