चाणक्य के कड़वे वचन – Chanakya Ke Kadve Vachan

चाणक्य के कड़वे वचन सुनने में रूखे, पर सारगर्भित हैं। जीवन में सफलता के लिए इन्हें समझना जरूरी है। इन्हें चाणक्य नीति से संकलित किया गया है।

Read more

चाणक्य नीति का सोलहवाँ अध्याय

चाणक्य नीति का सोलहवाँ अध्याय बहुत ही गहन है। गंभीरता पूर्वक इसका जितना अध्ययन किया जाए, वह कम है।

Read more

चाणक्य नीति का अध्याय 15

चाणक्य नीति का अध्याय 15 आपके समक्ष प्रस्तुत करते हुए हमें हर्ष का अनुभव हो रहा है। यह अध्याय ज्ञान और व्यावहारिक सूझ-बूझ से भरपूर है।

Read more

चाणक्य नीति का चतुर्दश अध्याय

चाणक्य नीति का चतुर्दश अध्याय गागर में सागर की तरह है। यह ज्ञान की बहुत-सी भिन्न-भिन्न धाराओं को छूता है।

Read more

चाणक्य नीति का अध्याय तेरह

चाणक्य नीति का अध्याय तेरह ज्ञान का खज़ाना है। इसमें व्यावहारिकता की समझ कूट-कूट कर भरी हुई है।

Read more

चाणक्य नीति का द्वादश अध्याय

चाणक्य नीति का द्वादश अध्याय गागर में सागर की तरह ज्ञान को समेटे हुए है। पढ़ें यह पठनीय अध्याय और जीवन को ज्ञान की ज्योति से आलोकित करें। अन्य अध्याय पढ़ने के लिए कृपया यहाँ जाएँ – चाणक्य नीति।

Read more

चाणक्य नीति का एकादश अध्याय

चाणक्य नीति का एकादश अध्याय गागर में सागर की तरह ज्ञान को समेटे हुए है। पढ़ें यह पठनीय अध्याय और जीवन को ज्ञान की ज्योति से आलोकित करें।

Read more

पंचतंत्र की कहानी – मूर्ख मित्र से बुद्धिमान शत्रु अच्छा

यह पंचतंत्र की प्रसिद्ध कहानी है, जिसमें बताया है कि होशियार दुश्मन रखना मूर्ख दोस्त रखने से अच्छा है।

Read more

पंचतंत्र की कहानी – बाधा को पहले सोचो

इस पंचतंत्र की कहानी में बताया गया है कि हर काम से पहले उसके परिणाम के बारे में सोच-विचार कर लेना चाहिए।

Read more
error: यह सामग्री सुरक्षित है !!