पंचतंत्र की कहानी – मूर्ख मित्र से बुद्धिमान शत्रु अच्छा

यह पंचतंत्र की प्रसिद्ध कहानी है, जिसमें बताया है कि होशियार दुश्मन रखना मूर्ख दोस्त रखने से अच्छा है।

Read more

पंचतंत्र की कहानी – बाधा को पहले सोचो

इस पंचतंत्र की कहानी में बताया गया है कि हर काम से पहले उसके परिणाम के बारे में सोच-विचार कर लेना चाहिए।

Read more

पंचतंत्र की कहानी – बुद्धिमान बलवान

“बुद्धिमान बलवान” पंचतंत्र की कहानी बहुत ही दिलचस्प तरीक़े से बताती है कि जो होशियार है, वाक़ई वही ताक़तवर है।

Read more

पंचतंत्र की कहानी – शत्रु को तरकीब से मारो

“शत्रु को तरकीब से मारो” पंचतंत्र की कहानी बहुत ही रोचक है, जिसमें शत्रु को शक्ति की बजाय बुद्धि से हराने पर बल दिया गया है।

Read more

पंचतंत्र की कहानी – न कोई छोटा, न कोई बड़ा

“न कोई छोटा, न कोई बड़ा” कहानी में बताया गया है कि किसी भी इंसान को–चाहे वह छोटा हो या बड़ा–कभी नीचा नहीं दिखाना चाहिए।

Read more
error: यह सामग्री सुरक्षित है !!