प्रातः स्मरण श्लोक – Pratah Smaran Shlok

प्रातः स्मरण श्लोक जो व्यक्ति नित्य प्रातःकाल पढ़ता या कहता है उसका दिन सुखपूर्वक व्यतीत होता है। कहते हैं कि

Read more

सूर्यदेव का कोप – महाभारत का चौबीसवाँ अध्याय (आस्तीक पर्व)

“सूर्यदेव का कोप” नामक यह महाभारत कथा आदि पर्व के अन्तर्गत आस्तीक पर्व में आती है। यह कहानी पिछली कथा

Read more

सूर्य देव – Surya Dev

सूर्य देव नवग्रहों में प्रथम हैं। उनकी पूजा, मंत्र जप और उपाय करने से सभी बाधाएँ दूर हो जाती हैं। पढ़ें भगवान सूर्य संबंधी समस्त जानकारियाँ।

Read more
error: यह सामग्री सुरक्षित है !!