बाबा बालक नाथ की आरती

बाबा बालक नाथ की आरती का गायन सब दुःखों की एक दवा है। ऐसा कौन-सा काम है, जो बाबा बालक नाथ की आरती नित्य गाने से और उनकी कृपा से संभव न हो। उनका आशीर्वाद संतान-प्राप्ति का अचूक उपाय है। बाबा नित्य सिद्ध हैं और अपने भक्तों पर कृपा की वर्षा करने वाले हैं। आवश्यकता है तो श्रद्धा और विश्वास की व निष्कपट अन्तःकरण की। पढ़ें सिद्ध बाबा बालक नाथ की आरती (Baba Balak Nath Ji Ki Aarti) हिंदी में–

यह भी पढ़े – बाबा बालक नाथ चालीसा

ओम जय कलाधारी हरे, स्वामी जय पौणाहारी हरे
भगत जनों की नइया, भव से पार करे। ओ३म् जय…

बालक उम्र सुहानी, नाम बाबा बालक नाथा।
अमर हुए शंकर से, सुन कर अमर गाथा। ओ३म् जय…

शीश पे बाल सुनहरी, गल रूद्राक्षी माला
हाथ में झोली चिमटा, आसन मृगशाला। ओ३म् जय…

सुन्दर सेली सिंगी, वेरागन सोहे
गो पालक रखवाला, भगतन मन मोहे। ओ३म् जय…

अंग भभूत रमाई, मूरति प्रभू अंगी
भय भंजन दुःख नाशक, भर्तरी के संगी। ओ३म् जय…

रोट चढ़त रविवार को, फल मिश्री मेवा
धूप दीप चन्दन से, आनन्द सिद्ध देवा। ओ३म् जय…

भगतन हित अवतार लियो, स्वामी देख के कलिकाला।
दुष्ट दमन शत्रुघ्न, भगत प्रतिपाला। ओ३म् जय…

बाबा बालक नाथ जी की आरती, जो नित गावे।
कहत है निर्मल तेरा, कहत है सत्गुरु मेरा, सुख सम्पत्ति पावे। ओ३म् जय…

विदेशों में बसे कई लोगों ने हमसे इस आरती को रोमन में उपलब्ध कराने का भी अनुरोध किया है। इसे ध्यान में रखते हुए हम यह आरती यहाँ रोमन में दे रहे हैं–

oma jaya kalādhārī hare, svāmī jaya pauṇāhārī hare
bhagata janoṃ kī naiyā, bhava se pāra kare। o3m jaya…

bālaka umra suhānī, nāma bābā bālaka nāthā।
amara hue śaṃkara se, suna kara amara gāthā। o3m jaya…

śīśa pe bāla sunaharī, gala rūdrākṣī mālā
hātha meṃ jholī cimaṭā, āsana mṛgaśālā। o3m jaya…

sundara selī siṃgī, verāgana sohe
go pālaka rakhavālā, bhagatana mana mohe। o3m jaya…

aṃga bhabhūta ramāī, mūrati prabhū aṃgī
bhaya bhaṃjana duḥkha nāśaka, bhartarī ke saṃgī। o3m jaya…

roṭa caḍha़ta ravivāra ko, phala miśrī mevā
dhūpa dīpa candana se, ānanda siddha devā। o3m jaya…

bhagatana hita avatāra liyo, svāmī dekha ke kalikālā।
duṣṭa damana śatrughna, bhagata pratipālā। o3m jaya…

bābā bālaka nātha jī kī āratī, jo nita gāve।
kahata hai nirmala terā, kahata hai satguru merā, sukha sampatti pāve। o3m jaya…

सन्दीप शाह

सन्दीप शाह दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक हैं। वे तकनीक के माध्यम से हिंदी के प्रचार-प्रसार को लेकर कार्यरत हैं। बचपन से ही जिज्ञासु प्रकृति के रहे सन्दीप तकनीक के नए आयामों को समझने और उनके व्यावहारिक उपयोग को लेकर सदैव उत्सुक रहते हैं। हिंदीपथ के साथ जुड़कर वे तकनीक के माध्यम से हिंदी की उत्तम सामग्री को लोगों तक पहुँचाने के काम में लगे हुए हैं। संदीप का मानना है कि नए माध्यम ही हमें अपनी विरासत के प्रसार में सहायता पहुँचा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: यह सामग्री सुरक्षित है !!