दत्तात्रेय भगवान के 108 नाम – Dattatrey Bhagwan Ke 108 Naam

दत्तात्रेय भगवान के 108 नाम (Dattatrey Bhagwan Ke 108 Naam) परम पवित्र हैं तथा भोग व मोक्ष को देने वाले हैं। दत्तात्रेय महर्षि अत्रि और सती अनसूया के पुत्र थे। दत्त भगवान की उत्पत्ति सृष्टिकर्ता ब्रह्मा, पालनहार श्री विष्णु और संहारक सदाशिव के संयुक्त अंश से हुई है। अतः वे त्रिमूर्ति स्वरूप माने जाते हैं। जो व्यक्ति दत्तात्रेय भगवान के 108 नाम इन मंत्रों के माध्यम से लेता है उसे प्रत्येक कार्य में निश्चित ही सिद्धि की प्राप्ति होती है। इसमें संशय नहीं है कि दत्तात्रेय भगवान के 108 नाम लेने वाला भक्त काल को भी अपने वश में करने में सक्षम है। पढ़ें दत्तात्रेय भगवान के 108 नाम–

  1. ॐ श्रीदत्ताय नमः।
  2. ॐ देवदत्ताय नमः।
  3. ॐ ब्रह्मदत्ताय नमः।
  4. ॐ विष्णुदत्ताय नमः।
  5. ॐ शिवदत्ताय नमः।
  6. ॐ अत्रिदत्ताय नमः।
  7. ॐ आत्रेयाय नमः।
  8. ॐ अत्रिवरदाय नमः।
  9. ॐ अनुसूयायै नमः।
  10. ॐ अनसूयासूनवे नमः।
  11. ॐ अवधूताय नमः।
  12. ॐ धर्माय नमः।
  13. ॐ धर्मपरायणाय नमः।
  14. ॐ धर्मपतये नमः।
  15. ॐ सिद्धाय नमः।
  16. ॐ सिद्धिदाय नमः।
  17. ॐ सिद्धिपतये नमः।
  18. ॐ सिद्धसेविताय नमः।
  19. ॐ गुरवे नमः।
  20. ॐ गुरुगम्याय नमः। ॥ २० ॥
  21. ॐ गुरोर्गुरुतराय नमः।
  22. ॐ गरिष्ठाय नमः।
  23. ॐ वरिष्ठाय नमः।
  24. ॐ महिष्ठाय नमः।
  25. ॐ महात्मने नमः।
  26. ॐ योगाय नमः।
  27. ॐ योगगम्याय नमः।
  28. ॐ योगीदेशकराय नमः।
  29. ॐ योगरतये नमः।
  30. ॐ योगीशाय नमः।
  31. ॐ योगाधीशाय नमः।
  32. ॐ योगपरायणाय नमः।
  33. ॐ योगिध्येयाङ्घ्रिपङ्कजाय नमः।
  34. ॐ दिगम्बराय नमः।
  35. ॐ दिव्याम्बराय नमः।
  36. ॐ पीताम्बराय नमः।
  37. ॐ श्वेताम्बराय नमः।
  38. ॐ चित्राम्बराय नमः।
  39. ॐ बालाय नमः।
  40. ॐ बालवीर्याय नमः।
  41. ॐ कुमाराय नमः।
  42. ॐ किशोराय नमः।
  43. ॐ कन्दर्पमोहनाय नमः।
  44. ॐ अर्धाङ्गालिङ्गिताङ्गनाय नमः।
  45. ॐ सुरागाय नमः।
  46. ॐ विरागाय नमः।
  47. ॐ वीतरागाय नमः।
  48. ॐ अमृतवर्षिणे नमः।
  49. ॐ उग्राय नमः।
  50. ॐ अनुग्ररूपाय नमः।
  51. ॐ स्थविराय नमः।
  52. ॐ स्थवीयसे नमः।
  53. ॐ शान्ताय नमः।
  54. ॐ अघोराय नमः।
  55. ॐ गूढाय नमः।
  56. ॐ ऊर्ध्वरेतसे नमः।
  57. ॐ एकवक्त्राय नमः।
  58. ॐ अनेकवक्त्राय नमः।
  59. ॐ द्विनेत्राय नमः।
  60. ॐ त्रिनेत्राय नमः।
  61. ॐ द्विभुजाय नमः।
  62. ॐ षड्भुजाय नमः।
  63. ॐ अक्षमालिने नमः।
  64. ॐ कमण्डलुधारिणे नमः।
  65. ॐ शूलिने नमः।
  66. ॐ डमरुधारिणे नमः।
  67. ॐ शङ्खिने नमः।
  68. ॐ गदिने नमः।
  69. ॐ मुनये नमः।
  70. ॐ मौलिने नमः।
  71. ॐ विरूपाय नमः।
  72. ॐ स्वरूपाय नमः।
  73. ॐ सहस्रशिरसे नमः।
  74. ॐ सहस्राक्षाय नमः।
  75. ॐ सहस्रबाहवे नमः।
  76. ॐ सहस्रायुधाय नमः।
  77. ॐ सहस्रपादाय नमः।
  78. ॐ सहस्रपद्मार्चिताय नमः।
  79. ॐ पद्महस्ताय नमः।
  80. ॐ पद्मपादाय नमः।
  81. ॐ पद्मनाभाय नमः।
  82. ॐ पद्ममालिने नमः।
  83. ॐ पद्मगर्भारुणाक्षाय नमः।
  84. ॐ पद्मकिञ्जल्कवर्चसे नमः।
  85. ॐ ज्ञानिने नमः।
  86. ॐ ज्ञानगम्याय नमः।
  87. ॐ ज्ञानविज्ञानमूर्तये नमः।
  88. ॐ ध्यानिने नमः।
  89. ॐ ध्याननिष्ठाय नमः।
  90. ॐ ध्यानसिमितमूर्तये नमः।
  91. ॐ धूलिधूसरिताङ्गाय नमः।
  92. ॐ चन्दनलिप्तमूर्तये नमः।
  93. ॐ भस्मोद्धूलितदेहाय नमः।
  94. ॐ दिव्यगन्धानुलेपिने नमः।
  95. ॐ प्रसन्नाय नमः।
  96. ॐ प्रमत्ताय नमः।
  97. ॐ प्रकृष्टार्थप्रदाय नमः। var प्रधानाय
  98. ॐ अष्टैश्वर्यप्रदाय नमः।
  99. ॐ वरदाय नमः।
  100. ॐ वरीयसे नमः।
  101. ॐ ब्रह्मणे नमः।
  102. ॐ ब्रह्मरूपाय नमः।
  103. ॐ विष्णवे नमः।
  104. ॐ विश्वरूपिणे नमः।
  105. ॐ शङ्कराय नमः।
  106. ॐ आत्मने नमः।
  107. ॐ अन्तरात्मने नमः।
  108. ॐ परमात्मने नमः।

विदेशों में बसे कुछ हिंदू स्वजनों के आग्रह पर दत्तात्रेय भगवान के 108 नाम (Dattatrey Bhagwan Ke 108 Naam) को हम रोमन में भी प्रस्तुत कर रहे हैं। हमें आशा है कि वे इससे अवश्य लाभान्वित होंगे। पढ़ें दत्तात्रेय भगवान के 108 नाम रोमन में–

  1. oṃ śrīdattāya namaḥ।
  2. oṃ devadattāya namaḥ।
  3. oṃ brahmadattāya namaḥ।
  4. oṃ viṣṇudattāya namaḥ।
  5. oṃ śivadattāya namaḥ।
  6. oṃ atridattāya namaḥ।
  7. oṃ ātreyāya namaḥ।
  8. oṃ atrivaradāya namaḥ।
  9. oṃ anusūyāyai namaḥ।
  10. oṃ anasūyāsūnave namaḥ।
  11. oṃ avadhūtāya namaḥ।
  12. oṃ dharmāya namaḥ।
  13. oṃ dharmaparāyaṇāya namaḥ।
  14. oṃ dharmapataye namaḥ।
  15. oṃ siddhāya namaḥ।
  16. oṃ siddhidāya namaḥ।
  17. oṃ siddhipataye namaḥ।
  18. oṃ siddhasevitāya namaḥ।
  19. oṃ gurave namaḥ।
  20. oṃ gurugamyāya namaḥ। ॥ 20 ॥
  21. oṃ gurorgurutarāya namaḥ।
  22. oṃ gariṣṭhāya namaḥ।
  23. oṃ variṣṭhāya namaḥ।
  24. oṃ mahiṣṭhāya namaḥ।
  25. oṃ mahātmane namaḥ।
  26. oṃ yogāya namaḥ।
  27. oṃ yogagamyāya namaḥ।
  28. oṃ yogīdeśakarāya namaḥ।
  29. oṃ yogarataye namaḥ।
  30. oṃ yogīśāya namaḥ।
  31. oṃ yogādhīśāya namaḥ।
  32. oṃ yogaparāyaṇāya namaḥ।
  33. oṃ yogidhyeyāṅghripaṅkajāya namaḥ।
  34. oṃ digambarāya namaḥ।
  35. oṃ divyāmbarāya namaḥ।
  36. oṃ pītāmbarāya namaḥ।
  37. oṃ śvetāmbarāya namaḥ।
  38. oṃ citrāmbarāya namaḥ।
  39. oṃ bālāya namaḥ।
  40. oṃ bālavīryāya namaḥ।
  41. oṃ kumārāya namaḥ।
  42. oṃ kiśorāya namaḥ।
  43. oṃ kandarpamohanāya namaḥ।
  44. oṃ ardhāṅgāliṅgitāṅganāya namaḥ।
  45. oṃ surāgāya namaḥ।
  46. oṃ virāgāya namaḥ।
  47. oṃ vītarāgāya namaḥ।
  48. oṃ amṛtavarṣiṇe namaḥ।
  49. oṃ ugrāya namaḥ।
  50. oṃ anugrarūpāya namaḥ।
  51. oṃ sthavirāya namaḥ।
  52. oṃ sthavīyase namaḥ।
  53. oṃ śāntāya namaḥ।
  54. oṃ aghorāya namaḥ।
  55. oṃ gūḍhāya namaḥ।
  56. oṃ ūrdhvaretase namaḥ।
  57. oṃ ekavaktrāya namaḥ।
  58. oṃ anekavaktrāya namaḥ।
  59. oṃ dvinetrāya namaḥ।
  60. oṃ trinetrāya namaḥ।
  61. oṃ dvibhujāya namaḥ।
  62. oṃ ṣaḍbhujāya namaḥ।
  63. oṃ akṣamāline namaḥ।
  64. oṃ kamaṇḍaludhāriṇe namaḥ।
  65. oṃ śūline namaḥ।
  66. oṃ ḍamarudhāriṇe namaḥ।
  67. oṃ śaṅkhine namaḥ।
  68. oṃ gadine namaḥ।
  69. oṃ munaye namaḥ।
  70. oṃ mauline namaḥ।
  71. oṃ virūpāya namaḥ।
  72. oṃ svarūpāya namaḥ।
  73. oṃ sahasraśirase namaḥ।
  74. oṃ sahasrākṣāya namaḥ।
  75. oṃ sahasrabāhave namaḥ।
  76. oṃ sahasrāyudhāya namaḥ।
  77. oṃ sahasrapādāya namaḥ।
  78. oṃ sahasrapadmārcitāya namaḥ।
  79. oṃ padmahastāya namaḥ।
  80. oṃ padmapādāya namaḥ।
  81. oṃ padmanābhāya namaḥ।
  82. oṃ padmamāline namaḥ।
  83. oṃ padmagarbhāruṇākṣāya namaḥ।
  84. oṃ padmakiñjalkavarcase namaḥ।
  85. oṃ jñānine namaḥ।
  86. oṃ jñānagamyāya namaḥ।
  87. oṃ jñānavijñānamūrtaye namaḥ।
  88. oṃ dhyānine namaḥ।
  89. oṃ dhyānaniṣṭhāya namaḥ।
  90. oṃ dhyānasimitamūrtaye namaḥ।
  91. oṃ dhūlidhūsaritāṅgāya namaḥ।
  92. oṃ candanaliptamūrtaye namaḥ।
  93. oṃ bhasmoddhūlitadehāya namaḥ।
  94. oṃ divyagandhānulepine namaḥ।
  95. oṃ prasannāya namaḥ।
  96. oṃ pramattāya namaḥ।
  97. oṃ prakṛṣṭārthapradāya namaḥ। var pradhānāya
  98. oṃ aṣṭaiśvaryapradāya namaḥ।
  99. oṃ varadāya namaḥ।
  100. oṃ varīyase namaḥ।
  101. oṃ brahmaṇe namaḥ।
  102. oṃ brahmarūpāya namaḥ।
  103. oṃ viṣṇave namaḥ।
  104. oṃ viśvarūpiṇe namaḥ।
  105. oṃ śaṅkarāya namaḥ।
  106. oṃ ātmane namaḥ।
  107. oṃ antarātmane namaḥ।
  108. oṃ paramātmane namaḥ।

सन्दीप शाह

सन्दीप शाह दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक हैं। वे तकनीक के माध्यम से हिंदी के प्रचार-प्रसार को लेकर कार्यरत हैं। बचपन से ही जिज्ञासु प्रकृति के रहे सन्दीप तकनीक के नए आयामों को समझने और उनके व्यावहारिक उपयोग को लेकर सदैव उत्सुक रहते हैं। हिंदीपथ के साथ जुड़कर वे तकनीक के माध्यम से हिंदी की उत्तम सामग्री को लोगों तक पहुँचाने के काम में लगे हुए हैं। संदीप का मानना है कि नए माध्यम ही हमें अपनी विरासत के प्रसार में सहायता पहुँचा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: यह सामग्री सुरक्षित है !!