बाबा रामदेव जी की आरती – Ramdev Ji Ki Aarti

बाबा रामदेव जी की आरती गाने से सारे दुःख, सभी कष्ट दूर हो जाते हैं। बाबा साक्षात् विष्णु भगवान के अवतार हैं। इसमें कोई संदेह नहीं कि रामदेव पीर अपने भक्तों की हर प्रकार से रक्षा करते हैं। जो भक्त बाबा रामदेव जी की आरती नित्य गाता है, इस संसार में वह सब कुछ पा लेता है। बाबा रामदेव जी की आरती (Ramdev Ji Ki Aarti) हृदय में श्रद्धा पैदा करती है, मन में शक्ति का संचार करती है, शरीर में आरोग्य उत्पन्न करती है और घर में समृद्धि लाती है। पाठ करें–

ॐ जय श्री रामादे स्वामी जयश्री रामादे।
पिता तुम्हारे अजमल मैया मेनादे॥
ॐ जय श्री रामादे…

रूप मनोहर जिसका घोड़े असवारी।
कर में सोहे भाला मुक्तामणि धारी॥
ॐ जय श्री रामादे…

विष्णु रूप तुम स्वामी कलियुग अवतारी।
सुरनर मुनिजन ध्यावे जावे बलिहारी ॥
ॐ जय श्री रामादे…

दुःख दलजी का तुमने भर में टारा।
संजीवनी भाण को तुमने कर डारा॥
ॐ जय श्री रामादे…

नाव सेठ की तारी दानव को मारा।
पल में कीना तुमने सरवर को खारा॥
ॐ जय श्री रामादे…

उपर्युक्त आरती पढ़ने से हर प्रकार का भय नष्ट हो जाता है। जीवन में किसी तरह की बाधा आ रही हो, तो वह भी समाप्त हो जाती है। साथ ही प्रगति के नए आयाम स्वतः ही खुलने लगते हैं। यही वजह है कि बहुत-से लोग इसे चमत्कारी पाठ मानते हैं। चालीसा पढ़ने के बाद इसे गाने बहुत उत्तम माना जाता है। शास्त्रीय तौर पर भी पूजन के बाद ही आरती गाने का विधान है।

कृपया बाबा रामदेव जी की चालीसा पढ़ने के लिए यहाँ जाये – बाबा रामदेव जी की चालीसा

सन्दीप शाह

सन्दीप शाह दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक हैं। वे तकनीक के माध्यम से हिंदी के प्रचार-प्रसार को लेकर कार्यरत हैं। बचपन से ही जिज्ञासु प्रकृति के रहे सन्दीप तकनीक के नए आयामों को समझने और उनके व्यावहारिक उपयोग को लेकर सदैव उत्सुक रहते हैं। हिंदीपथ के साथ जुड़कर वे तकनीक के माध्यम से हिंदी की उत्तम सामग्री को लोगों तक पहुँचाने के काम में लगे हुए हैं। संदीप का मानना है कि नए माध्यम ही हमें अपनी विरासत के प्रसार में सहायता पहुँचा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: यह सामग्री सुरक्षित है !!