भैया मेरे राखी के बंधन को निभाना Lyrics

“भैया मेरे राखी के बंधन को निभाना” गीतकार शैलेंद्र का लिखा हुआ बहुत ही सुंदर गीत है। लता मंगेशकर ने अपनी आवाज़ से इस गीत को और भी ख़ूबसूरत बना दिया है। भाई और बहन के प्रेम का यह गीत विशेषतः हर रक्षाबंधन पर देश भर में सुनाई देता है। शंकर-जयकिशन द्वारा संगीतबद्ध किया गया यह गाना भाई-बहन के पवित्र प्रेम का द्योतक है। सन् 1959 में आयी “छोटी बहन” नामक यह फ़िल्म आज भी इस गाने के लिए याद की जाती है। पढ़ें अभिनेत्री नंदा अभिनीत “भैया मेरे राखी के बंधन को निभाना” गीत के बोल (Bhaiya Mere Rakhi Ke Bandhan Ko Nibhana lyrics) हिंदी/देवनागरी में–

“भैया मेरे राखी के बंधन को निभाना” लिरिक्स

भैया मेरे राखी के बंधन को निभाना
भैया मेरे, छोटी बहन को ना भुलाना
देखो ये नाता निभाना, निभाना
भैया मेरे राखी…

ये दिन ये त्यौहार खुशी का, पावन जैसे नीर नदी का
भाई के उजले माथे पे, बहन लगाए मंगल टीका
झूमे ये सावन सुहाना
भैया मेरे राखी के बंधन को निभाना…

बाँध के हमने रेशम डोरी, तुमसे वो उम्मीद है जोड़ी
नाज़ुक है जो सांस के जैसे, पर जीवन भर जाए न तोड़ी
जाने ये सारा ज़माना
भैया मेरे राखी के बंधन को निभाना…

शायद वो सावन भी आए, जो पहला सा रंग न लाए
बहन पराए देश बसी हो, अगर वो तुम तक पहुँच न पाए
याद का दीपक जलाना
भैया मेरे राखी के बंधन को निभाना…

bhaiyā mere rākhī ke baṃdhana ko nibhānā
bhaiyā mere, choṭī bahana ko nā bhulānā
dekho ye nātā nibhānā, nibhānā
bhaiyā mere rākhī…

विदेशों में बसे हमारे बहुत से पाठकों ने निवेदन किया है कि हम इस गीत के बोल हिंदी (देवनागरी) के साथ रोमन में भी प्रस्तुत करें। इसी को ध्यान में रखकर हम ये लिरिक्स अंग्रेजी में भी पेश कर रहे हैं–

Bhaiya Mere Rakhi Ke Bandhan Ko Nibhana lyrics

ye dina ye tyauhāra khuśī kā, pāvana jaise nīra nadī kā
bhāī ke ujale māthe pe, bahana lagāe maṃgala ṭīkā
jhūme ye sāvana suhānā
bhaiyā mere rākhī ke baṃdhana ko nibhānā…

bā~dha ke hamane reśama ḍorī, tumase vo ummīda hai joḍa़ī
nāja़uka hai jo sāṃsa ke jaise, para jīvana bhara jāe na toḍa़ī
jāne ye sārā ja़mānā
bhaiyā mere rākhī ke baṃdhana ko nibhānā…

śāyada vo sāvana bhī āe, jo pahalā sā raṃga na lāe
bahana parāe deśa basī ho, agara vo tuma taka pahu~ca na pāe
yāda kā dīpaka jalānā
bhaiyā mere rākhī ke baṃdhana ko nibhānā…

यह भी पढ़ें

सन्दीप शाह

सन्दीप शाह दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक हैं। वे तकनीक के माध्यम से हिंदी के प्रचार-प्रसार को लेकर कार्यरत हैं। बचपन से ही जिज्ञासु प्रकृति के रहे सन्दीप तकनीक के नए आयामों को समझने और उनके व्यावहारिक उपयोग को लेकर सदैव उत्सुक रहते हैं। हिंदीपथ के साथ जुड़कर वे तकनीक के माध्यम से हिंदी की उत्तम सामग्री को लोगों तक पहुँचाने के काम में लगे हुए हैं। संदीप का मानना है कि नए माध्यम ही हमें अपनी विरासत के प्रसार में सहायता पहुँचा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: यह सामग्री सुरक्षित है !!