फूलों का तारों का सबका कहना है – Foolon Ka Taaron Ka Lyrics

“फूलों का तारों का सबका कहना है” गीत १९७१ में आई देव आनंद की प्रसिद्ध फ़िल्म “हरे रामा, हरे कृष्णा” का है। इस गीत के बोल लिखे हैं आनंद बक्शी ने और इसे सुरों में पिरोया है आरडी बर्मन ने। लगा मंगेशकर और किशोर कुमार ने इसे अपनी मधुर आवाज़ दी है। पढ़ें इस गीत के बोल (Foolon Ka Taaron Ka lyrics) हिंदी में–

हम्म…
(फूलों का तारों का सबका कहना है
एक हजारों में, मेरी बहना है
सारी उमर, हमें संग रहना)-२
फूलों का तारों का सबका कहना है

जबसे मेरी आँखों से, हो गयी तू दूर
तबसे सारे जीवन, के सपने हैं चूर
हे..ए.. जबसे मेरी आँखों से, हो गयी तू दूर
तबसे सारे जीवन, के सपने हैं चूर
आँखों में नींद ना, मन में चैना है
एक हजारों में, मेरी बहना है
सारी उमर, हमें संग रहना
फूलों का तारों का सबका कहना है

देखो हम तुम दोनों, हैं इक डाली के फूल
मैं ना भूला, तू कैसे मुझको गई भूल
हाँ…देखो हम तुम दोनों, हैं इक डाली के फूल
मैं ना भूला, तू कैसे मुझको गई भूल

आ मेरे पास आ, कह जो कहना है
एक हजारों में, मेरी बहना है
सारी उमर, हमें संग रहना
फूलों का तारो का सबका कहना है

जीवन के दुखों से, यूँ डरते नहीं हैं
ऐसे बच के, सच से गुज़रते नहीं हैं
हे..ए..जीवन के दुखों से, यूँ डरते नहीं हैं
ऐसे बच के, सच से गुज़रते नहीं हैं

सुख की है चाह तो, दुःख भी सहना है
एक हजारों में, मेरी बहना है
सारी उमर, हमें संग रहना
फूलों का तारों का सबका कहना है
एक हजारों में, मेरी बहना है
ल ल ल ला लाला ल ल ल लाह….
एक हजारों में, मेरी बहना है

विदेशों में बसे हमारे बहुत से पाठकों ने निवेदन किया है कि हम इस गीत के बोल हिंदी (देवनागरी) के साथ रोमन में भी प्रस्तुत करें। इसी को ध्यान में रखकर हम ये लिरिक्स अंग्रेजी में भी पेश कर रहे हैं–

Read Foolon Ka Taaron Ka Lyrics

hamma…
(phūloṃ kā tāroṃ kā sabakā kahanā hai
eka hajāroṃ meṃ, merī bahanā hai
sārī umara, hameṃ saṃga rahanā)-2
phūloṃ kā tāroṃ kā sabakā kahanā hai

jabase merī ā~khoṃ se, ho gayī tū dūra
tabase sāre jīvana, ke sapane haiṃ cūra
he..e.. jabase merī ā~khoṃ se, ho gayī tū dūra
tabase sāre jīvana, ke sapane haiṃ cūra
ā~khoṃ meṃ nīṃda nā, mana meṃ cainā hai
eka hajāroṃ meṃ, merī bahanā hai
sārī umara, hameṃ saṃga rahanā
phūloṃ kā tāroṃ kā sabakā kahanā hai

dekho hama tuma donoṃ, haiṃ ika ḍālī ke phūla
maiṃ nā bhūlā, tū kaise mujhako gaī bhūla
hā~…dekho hama tuma donoṃ, haiṃ ika ḍālī ke phūla
maiṃ nā bhūlā, tū kaise mujhako gaī bhūla

ā mere pāsa ā, kaha jo kahanā hai
eka hajāroṃ meṃ, merī bahanā hai
sārī umara, hameṃ saṃga rahanā
phūloṃ kā tāroṃ kā sabakā kahanā hai

jīvana ke dukhoṃ se, yū~ ḍarate nahīṃ haiṃ
aise baca ke, saca se guज़rate nahīṃ haiṃ
he..e..jīvana ke dukhoṃ se, yū~ ḍarate nahīṃ haiṃ
aise baca ke, saca se guज़rate nahīṃ haiṃ

sukha kī hai cāha to, duḥkha bhī sahanā hai
eka hajāroṃ meṃ, merī bahanā hai
sārī umara, hameṃ saṃga rahanā
phūloṃ kā tāroṃ kā sabakā kahanā hai
eka hajāroṃ meṃ, merī bahanā hai
la la la lā lālā la la la lāha….
eka hajāroṃ meṃ, merī bahanā hai

यह भी पढ़ें

सन्दीप शाह

सन्दीप शाह दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक हैं। वे तकनीक के माध्यम से हिंदी के प्रचार-प्रसार को लेकर कार्यरत हैं। बचपन से ही जिज्ञासु प्रकृति के रहे सन्दीप तकनीक के नए आयामों को समझने और उनके व्यावहारिक उपयोग को लेकर सदैव उत्सुक रहते हैं। हिंदीपथ के साथ जुड़कर वे तकनीक के माध्यम से हिंदी की उत्तम सामग्री को लोगों तक पहुँचाने के काम में लगे हुए हैं। संदीप का मानना है कि नए माध्यम ही हमें अपनी विरासत के प्रसार में सहायता पहुँचा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: यह सामग्री सुरक्षित है !!