स्वामीजी से कुछ लोगों का संन्यास-दीक्षाग्रहण – विवेकानंद जी के संग मे

मठ में स्वामीजी से कुछ लोगों का संन्यास-दीक्षाग्रहण -संन्यास धर्म विषय पर स्वामीजी का उपदेश – त्याग ही मनुष्यजीवन का उद्देश्य आदि।

Read more

वासुदेव के शोक की कहानी – जातक कथा

“वासुदेव के शोक की कहानी” जातक कथाओं में आती है। इससे हमें सीख मिलती है कि संसार में नश्वर वस्तुओं के लिए शोकग्रस्त नहीं होना चाहिए।

Read more

आशा का फल – जातक कथा

“आशा का फल” बहुत उपयोगी जातक कथा है। इस कहानी से शिक्षा मिलती है कि जो आशा का दामन नहीं छोड़ते, उन्हें सफलता ज़रूर मिलती है।

Read more

शिवि का नेत्र-दान – जातक कथा

“शिवि का नेत्र-दान” प्राचीन जातक कथा है। इसमें महान दानवीर राजा शिवि के महान दान और त्याग का वर्णन किया गया है। पढ़ें यह कहानी हिंदी में।

Read more

पुत्र की सीख – जातक कथा

“पुत्र की सीख” महत्वपूर्ण जातक कथा है। इसमें हमें सीख मिलती है कि हमें अपने माता-पिता का सदैव सम्मान करना चाहिए। पढ़ें यह कहानी हिंदी में।

Read more

दिट्ठ मांगलिका का पुत्र – जातक कथा

“दिट्ठ मांगलिका का पुत्र” एक महत्वपूर्ण जातक कथा है। इस कहानी से सीखने को मिलता है कि दान किसे दिया चाहिए और किसे नहीं देना चाहिए।

Read more

चार अक्षर वाली चीख – जातक कथा

चार अक्षर वाली चीख” जातक कथा की शिक्षा याद रखने योग्य है। दानहीन, दुःखियों की मदद न करने वाले व ग़लत काम करने वाले को नरक भोगना पड़ता है।

Read more

राम कहानी – जातक कथा

“राम कहानी” जातक कथाओं में आती है। यह प्रचलित राम-कथा से थोड़ी-सी भिन्न है। इसमें दुःख के समय स्वयं पर नियंत्रण रखने की शिक्षा मिलती है।

Read more

अंगुलिमाल डाकू की कहानी – जातक कथा

“अंगुलिमाल डाकू की कहानी” जातक कथाओं में प्रसिद्ध कहानी है। इसमें बताया गया है कि किस तरह पूर्व-जन्म में अंगुलिमाल को सही दिशा प्राप्त हुई।

Read more

शूकर का साहस – जातक कथा

शूकर का साहस” एक जातक कथा है। इसमें बताया गया है कि साहस और एकता से बड़ी-से-बड़ी बाधा पर भी विजय पायी जा सकती है। पढ़ें यह कहानी हिंदी में।

Read more
error: यह सामग्री सुरक्षित है !!