गोवर्धन महाराज की आरती – Shri Govardhan Maharaj Ki Aarti

गोवर्धन महाराज की आरती का पाठ जो भी व्यक्ति भक्ति प्रेम से करता हैं, गोवर्द्धन महाराज उसकी सभी परिस्थिति में सहायता करते हैं। पढ़ें गोवर्धन महाराज की आरती हिंदी में।

श्री गोवर्धन महाराज, ओ महाराज।
तेरे माथे मुकुट विराज रहेओ ॥
श्री गोवर्धन महाराज, ओ महाराज।
तेरे माथे मुकुट विराज रहेओ ॥

तोपे पान चढ़े, तोपे फूल चढ़े…
तोपे चढ़े दूध की धार।
तेरे माथे मुकुट विराज रहेओ ॥
श्री गोवर्धन महाराज…

तेरी सात कोस की परिकम्मा…
और चकलेश्वर है विश्राम।
तेरे माथे मुकुट विराज रहेओ ॥
श्री गोवर्धन महाराज…

तेरे गले में कंठा साज रेहेओ…
ठोड़ी पे हीरा लाल।
तेरे माथे मुकुट विराज रहेओ ॥
श्री गोवर्धन महाराज…

तेरे कानन कुंडल चमक रहेओ…
तेरी झांकी बनी विशाल।
तेरे माथे मुकुट विराज रहेओ ॥
श्री गोवर्धन महाराज…

गिरिराज धारण प्रभु तेरी शरण,
करो भक्त का बेड़ा पार।
तेरे माथे मुकुट विराज रहेओ ॥
श्री गोवर्धन महाराज…

॥ इति श्री गोवर्धन महाराज आरती संपूर्णम् ॥

गोवर्धन पूजा मंत्र – Govardhan Puja Mantra

पहला मंत्र
ऊँ वासुदेवाय हरये परमात्मने।
प्रणत : क्लेशनाशाय गोविंदाय नमो नम:॥

दूसरा मंत्र
ऊँ नम: भगवते वासुदेवाय कृष्णाय।
क्लेशनाशाय गोविंदाय नमो नम:॥

तीसरा मंत्र
हरे कृष्ण हरे कृष्ण, कृष्ण कृष्ण हरे हरे।
हरे राम हरे राम, राम-राम हरे हरे॥

चौथा मंत्र
लक्ष्मीर्या लोकपालानां धेनुरूपेण संस्थिता।
घृतं वहति यज्ञार्थ मम पापं व्यपोहतु॥

विदेशों में बसे कुछ हिंदू स्वजनों के आग्रह पर श्री गोवर्धन महाराज की आरती को हम रोमन में भी प्रस्तुत कर रहे हैं। हमें आशा है कि वे इससे अवश्य लाभान्वित होंगे। पढ़ें श्री गोवर्धन महाराज की आरती रोमन में–

Read Shri Govardhan Maharaj Ki Aarti

śrī govardhana mahārāja, o mahārāja।
tere māthe mukuṭa virāja raheo ॥
śrī govardhana mahārāja, o mahārāja।
tere māthe mukuṭa virāja raheo ॥

tope pāna caḍha़e, tope phūla caḍha़e…
tope caḍha़e dūdha kī dhāra।
tere māthe mukuṭa virāja raheo ॥
śrī govardhana mahārāja…

terī sāta kosa kī parikammā…
aura cakaleśvara hai viśrāma।
tere māthe mukuṭa virāja raheo ॥
śrī govardhana mahārāja…

tere gale meṃ kaṃṭhā sāja reheo…
ṭhoḍa़ī pe hīrā lāla।
tere māthe mukuṭa virāja raheo ॥
śrī govardhana mahārāja…

tere kānana kuṃḍala camaka raheo…
terī jhāṃkī banī viśāla।
tere māthe mukuṭa virāja raheo ॥
śrī govardhana mahārāja…

girirāja dhāraṇa prabhu terī śaraṇa,
karo bhakta kā beड़ā pāra।
tere māthe mukuṭa virāja raheo ॥
śrī govardhana mahārāja…

॥ iti śrī govardhana mahārāja āratī saṃpūrṇam ॥

Govardhan Puja Mantra

pahalā maṃtra
ū~ vāsudevāya haraye paramātmane।
praṇata : kleśanāśāya goviṃdāya namo nama:॥

dūsarā maṃtra
ū~ nama: bhagavate vāsudevāya kṛṣṇāya।
kleśanāśāya goviṃdāya namo nama:॥

tīsarā maṃtra
hare kṛṣṇa hare kṛṣṇa, kṛṣṇa kṛṣṇa hare hare।
hare rāma hare rāma, rāma-rāma hare hare॥

cauthā maṃtra
lakṣmīryā lokapālānāṃ dhenurūpeṇa saṃsthitā।
ghṛtaṃ vahati yajñārtha mama pāpaṃ vyapohatu॥

यह भी पढ़ें

सन्दीप शाह

सन्दीप शाह दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक हैं। वे तकनीक के माध्यम से हिंदी के प्रचार-प्रसार को लेकर कार्यरत हैं। बचपन से ही जिज्ञासु प्रकृति के रहे सन्दीप तकनीक के नए आयामों को समझने और उनके व्यावहारिक उपयोग को लेकर सदैव उत्सुक रहते हैं। हिंदीपथ के साथ जुड़कर वे तकनीक के माध्यम से हिंदी की उत्तम सामग्री को लोगों तक पहुँचाने के काम में लगे हुए हैं। संदीप का मानना है कि नए माध्यम ही हमें अपनी विरासत के प्रसार में सहायता पहुँचा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: यह सामग्री सुरक्षित है !!