इलायची के फायदे – Ilaichi Ke Fayde

इलायची के फायदे बहुत हैं। यह छोटी-सी चीज़ हमारे स्वास्थ को कितना बेहतर बना सकती है, इसको जानकर आप हैरान रह जाएंगे। इस लेख में पढ़ें इलायची के गुण और इसके मुख्य लाभ।

अपनी मनमोहक खुशबू व स्वाद के चलते ईलायची (Ilaychi) का उपयोग भोजन को स्वादिष्ट बनाने और मुखवास के रूप में प्रयोग किया जाता है। इलायची दो तरह की होती है – एक छोटी या हरी ईलायची व दूसरी काली इलायची, जिसे हम बड़ी इलायची (Badi Ilaichi) भी बोलते हैं। हमारे देश में हरी और काली दोनों प्रकार की इलायचियों का इस्तेमाल होता है। इलायची का उपयोग सदियों से भोजन और सौंदर्य प्रसाधनों के लिए किया जाता रहा है। सिर्फ़ हमारे देश में ही नहीं, बल्कि दूसरे देशों में भी भोजन व पेय पदार्थों में इलायची का उपयोग होता है।

यह भी पढ़ें – भोजन संबंधी अच्छी आदतें

जहाँ काली इलायची गर्म मानी जाती है, वहीं हरी इलायची के शीतल गुणों के चलते ठंडाई जैसे पेय पदार्थों में इसका उपयोग होता है। हमारे देश में आज भी शादी समारोहों में पान-इलायची से बारातियों का स्वागत करने की परंपरा है। घर में यदि कोई मेहमान आए, तो हम उसे मुखवास के लिए सौंफ-इलायची देते हैं। मुंह की बदबू दूर करने के लिए ईलायची सबसे अधिक असरदार है। इसके बीजों से एसेंशियल ऑइल मिलता है। आयुर्वेद में इलायची को रक्त-शोधक बताया गया है। यह केवल सुगंधकारक ही नहीं, बल्कि गुणकारक भी है। आइए, विस्तार से जानते हैं इलायची के फायदे–

1. इलायची के बैक्टीरिया-निरोधी गुण बढ़ाते हैं इम्यूनिटी

इलायची एक प्राकृतिक एंटी-बैक्टीरियल है, जिसे चबाने से शरीर की रोग प्रतिरोधक शक्ति बढ़ती है। ऐसा माना गया है कि नियमित रूप से इसका सेवन हमें अनेक प्रकार के रोगों से लड़ने की शक्ति देता है। यदि आप ऋतु परिवतर्न के साथ होने वाली छोटी-मोटी बीमारियों से बचना चाहते हैं, तो रोज़ाना इलायची का सेवन करें।

  • सर्दी-जुखाम होने पर इलायची की चाय पीने से आराम मिलता है
  • मौसमी बुखार में गला सूखने व बार-बार प्यास लगने पर ईलायची मुंह में रखकर चूसने से लाभ होता है
  • बदहजमी से होने वाले सर दर्द में हर्बल टी में इसे उबालकर पीने से फायदा मिलता है

यह भी पढ़ें – हल्दी के फायदे

2. इलायची हाजमा रखती है दुरुस्त

जब पेट की बात आती है, तब भी इलायची के फायदे अनेक हैं। हाजमा सुधारने में छोटी इलायची (Choti Ilaychi) के फायदे बहुत हैं। खासकर छोटी इलायची में मौजूद एंजाइम्स पाचन सम्बंधी सम्स्याओं से छुटकारा दिलाते हैं। यह पाचन भी बढ़ाती है। यदि आप गैस्ट्रिक अल्सर से पीड़ित हैं तो हरी इलायची के चूर्ण का सेवन करने से रोग में काफी आराम मिलेगा।

  • एसिडिटी होने पर दो छोटी हरी इलायची पानी में उबाल कर पिएँ
  • हरी ईलायची मुंह में रखकर चूसने से उल्टियाँ बंद हो जाती हैं
  • भूख ना लगने पर इलायची के साथ थोड़ी अजवाइन की फंकी लेने से भूख खुलती है
  • पेट में गैस होने पर इसे बारीक चबाकर खाने से लाभ होता है

3. मूत्र व किडनी रोगों में इलायची देती है लाभ

इलायची एक बढ़िया रक्त शोधक तो है ही, साथ ही यह मूत्राशय, गाल ब्लैडर व किडनी से विषैले पदार्थों–जिन्हें टोक्सिंस कहा जाता है–तथा अतिरिक्त नमक आदि को निकालने में मदद करती है।

  • पथरी संबंधी रोगों जैसे मूत्राशय व किडनी की पथरी होने पर हरी इलायची को पानी में उबालकर सुबह खाली पेट पीने से लाभ होगा
  • पेशाब में जलन व बार-बार पेशाब आने जैसी समस्या होने पर नियमत रूप से इलायची के पानी से लाभ होगा

4. ब्लड क्लोट्स से बचाव करे इलायची

कई बार चोट लगने पर शरीर के अंदरूनी अंगो में खून के थक्के बन जाते हैं, जिन्हें आमतौर पर ब्लड क्लोट्स कहा जाता है। इलायची में ब्लड थिनर के गुण होते हैं, जो खून को जमा नही होने देते व रक्त को शुद्ध भी करते हैं।

यह भी पढ़ें – मेथी के फायदे

5. क्रोनिक बीमारियों में लाभ देती है ईलायची

फैटी लीवर जैसे क्रोनिक रोगों में हरी इलायची का सेवन लाभदायक होता है। ये सरटूइन-1–एक प्रकार का प्रोटीन जो मानव शरीर में पाया जाता है–को बढ़ाने में सहायक है और लिवर की सूजन को कम करता है। यदि आपको फैटी लिवर की समस्या है और आप शराब आदि नशीली वस्तुओं का सेवन नहीं करते हैं, तो लीवर को स्वस्थ रखने के लिए रोजाना हरी इलायची का सेवन करें।

6. सर्दी-जुखाम में ईलायची की चाय देती है राहत

  • सर्दियों के दौरान सर्दी-जुखाम जैसी आम समस्याओं में बड़ी इलायची (Badi Ilaichi) की चाय पिएँ
  • हरी इलायची व लौंग हर्बल या ग्रीन टी के साथ उबालकर दिन में 2-4 बार पीने से बंद गला खुल जाता है और गले की खराश में आराम मिलता है

7. मुंह की दुर्गन्ध दूर करने में इलायची के फायदे

यह तो सभी जानते हैं कि इलायची का इस्तेमाल सदियों से एक असरदार मुखवास के रूप में होता आया है। मुंह की सफाई ठीक से ना होने पर दांतों के अंदर बैक्टीरिया जमा होने के कारण मुंह की बदबू आती है। यदि आप भी मुंह की बदबू से छुटकारा चाहते हैं तो सुबह-शाम दांतों को किसी अच्छे दंत मंजन से साफ़ करें। इसके लिए नीम की दातून का प्रयोग किया जा सकता है, जो दांतों को अंदर-बाहर से साफ़ करती है। इसके अतिरिक्त भोजन के बाद हरी इलायची मुंह में रखकर चूसते रहने से भी मुंह की बदबू दूर होने लगती है।

यह भी पढ़ें – अंजीर के फायदे

8. अस्थमा में काली इलायची है कारगर

हरी इलायची (Green Ilaichi) जितनी फायदेमंद है, काली इलायची भी कुछ कम नहीं है। कुछ शोधों से पता चला है कि अस्थमा (दमा) जैसे रोगों में काली इलायची ब्रोंकोडाईलेटर की तरह है, जोकि श्वास नली के कैल्शियम चैनल्स पर प्रभावशाली रूप से कार्य करती है। एंटीओक्सीडेंट व एंटीसेप्टिक गुणों की खान काली इलायची में विटामिन सी भी अच्छी मात्रा में मिलता है। यह श्वास नली व फेफड़ों को तुंरत गर्माहट देती है, जिससे अस्थमा के रोगी को तेज़ी से आराम मिलता है। इलायची खाने के फायदे दमे के मरीज को सेहतमंद करने में बहुत कारगर हैं।

  • अस्थमा रोग में रोजाना काली इलायची (Black Ilaichi) के दानों का चूर्ण गर्म पानी के साथ लेने से लाभ होगा
  • गले की खराश, गला बंद होने या बलगम वाली खांसी होने पर काली इलायची का सेवन लाभ देता है

9. इंसोमेनिया यानी नींद ना आने की समस्या को करे दूर

जैसा कि हमने पहले बताया कि इलायची का तेल यानी एसेंशियल ऑइल भी बेहद उपयोगी होता है। यह तेल मस्तिष्क के स्नायु तंत्रों को विश्राम देता है, जिससे एंजाईटी यानी घबराहट होने पर या नींद ना आने की समस्या में काफी आराम मिलता है।

  • अच्छी नींद के लिए ऑइल बर्नर में इलायची के तेल की कुछ बूँदें डालें, जिसकी भीनी-भीनी खुशबू से आपको मीठी नींद आएगी
  • सर में दर्द या आधा सिसी रोग में इसके तेल को रूई के फाहे में लगाकर सूंघते रहने से भी काफी आराम मिलता है
  • इसे इलायची के पानी में उबालकर पीने से भी सर दर्द में राहत मिलती है

10. यदि भूख ना लगती हो तो ईलायची चबाएँ

इलायची खाने से पेट के अंदर पाचक रस उत्पन्न होते हैं, जिससे भूख खुलती है। जिन लोगों को भूख न लगती हो, उन्हें भोजन से कुछ देर पहले 2-4 इलायची खूब चबा-चबाकर खानी चाहिए।

यह भी पढ़ें – लौंग खाने के फायदे

11. त्वचा का सौन्दर्य निखारे इलायची पाउडर

आपको सुनकर शायद हैरानी हो, परन्तु यह सच है कि इलायची के नियमित सेवन से खून साफ रहता है। इससे त्वचा में भी निखार आता है। इसके अतिरिक्त आप त्वचा को स्वस्थ रखने के लिए ऐसे सौंदर्य प्रसाधन इस्तेमाल कर सकते हैं, जिनमें इलायची के तेल का प्रयोग हो। इलायची के दाने पीसकर उसका पावडर बना लें। इसे शहद के साथ मिलाकर चेहरे पर लेप लगाकर कुछ देर सूखने के बाद धो लें। कुछ दिनों तक प्रयोग करने से आपको फर्क साफ़ नजर आएगा।

आकार में छोटी-सी, परंतु गुणों की खान इलायची स्वास्थ का खज़ाना है। इस खज़ाने का लाभ आप भी अवश्य उठाएँ। हमें उम्मीद है कि इलायची खाने के फायदे (Ilaichi Khane Ke Fayde) जानकर आप सर्व-सुलभ व किफायती इलायची के इन प्रयोगों से छोटी-मोटी बीमारियों में आसानी से बचाव कर सकेंगे।

ममता रैना

ममता रैना दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक हैं। वे सात वर्षों से लेखन के क्षेत्र में सक्रिय हैं तथा उनके लेख विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित होते रहते हैं। ममता का मानना है कि एक अच्छा लेखक होने के लिए अच्छा पाठक होना बेहद ज़रूरी है। साथ ही वे लेखन के लिए अपने आस-पास हो रही घटनाओं के प्रति संवेदनशीलता को आवश्यक मानती हैं। वे हिंदीपथ.कॉम पर लगातार सक्रिय हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: यह सामग्री सुरक्षित है !!