सौंफ खाने के फायदे – Saunf Khane Ke Fayde

सौंफ खाने के फायदे (Saunf Khane Ke Fayde) अनगिनत हैं। रसोईघर में मसाले के रूप में पाई जाने वाली छोटी सी हरे रंग की चीज़, जिसे हम आमतौर पर सौंफ के नाम से जानते हैं, अपने साथ अनेक गुणकारी तत्वों को लिए हुए है। इसका उपयोग लोग व्यंजनों में डालकर उनके स्वाद को बढ़ाने के साथ-साथ माउथ फ्रेशनर की तरह भी करते हैं। वहीं अगर हम सौंफ खाने के फायदे के बारे में बात करें तो लिस्ट बहुत लम्बी है। ये सेहत को चुस्त-दुरुस्त बनाए रखने के साथ-साथ अन्य कई गंभीर समस्याओं से भी छुटकारा दिलाती है। तो आइये जानते हैं सौंफ के साथ जुड़े हुए कुछ रोचक तथ्यों और उससे होने वाले फायदे के बारे में।

यह भी पढ़ें – सेंधा नमक फायदे

सौंफ क्या है 

सौंफ एक खाद्य पदार्थ है जिसका वैज्ञानिक या वानस्पतिक नाम फॉनिक्युलम  वल्गारे (Foeniculum vulgare) है। प्राचीन काल से इसका उपयोग घरेलू औषधि के रूप में और मुँह को शुद्ध करने के लिए किया जाता है। इसके पत्तों को सब्ज़ी की तरह भी उपयोग किया जाता है। सौंफ को दुनिया भर में कई नामों से जाना जाता है जैसे हिंदी में सौंफ, इंग्लिश में Bitter fennel, मराठी में बड़ी सेपु इत्यादि। सौंफ की तासीर ठंडी होने की वजह से मुख्यतः गर्मी में इसका इस्तेमाल किया जाता है। इसमें कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं जो स्वस्थ रहने के लिये लाभकारी हैं। सौंफ के फायदे या सौंफ खाने के फायदे  अनेकों हैं जिसकी वजह से लोग बहुतायत में इसका उपयोग करते हैं। तो आइये जानते हैं सौंफ खाने के फायदे। 

क्या है हरी सौंफ खाने के फायदे 

जैसा की हम जान चुके हैं कि सौंफ खाने के फायदे अनेक हैं, परन्तु यहाँ हम उन्हीं में से कुछ बेहद कारगर फायदों के बारे में जानेंगे। तो ये हरी सौंफ के फायदे :

पाचन संबंधी सौंफ के फायदे 

सौंफ के उपयोग से पाचन संबंधी समस्याओं से छुटकारा पाया जा सकता है। इसमें पाए जाने वाले रासायनिक तत्व पेट से संबंधित कई गंभीर समस्याओं से छुटकारा दिलाने में मदद करते हैं। और तो और सौंफ के सेवन से गैस, पेट में सूजन, पेट दर्द, कब्ज़, दस्त, अल्सर जैसी समस्याओं में भी राहत मिलती है। 

यह भी पढ़ें – इलायची के फायदे

आँखों की ज्योति सम्बंधित सौंफ खाने के फायदे

आँखों की ज्योति या रोशनी के लिए विटामिन-ए और विटामिन-सी महत्वपूर्ण होते हैं। सौंफ में भरपूर मात्रा में विटामिन-ए पाया जाता है। इसीलिए इसका सेवन आँखों की रोशनी बढ़ाने के साथ-साथ आँखों की जलन भी कम करता है। 

अस्थमा और श्वास संबंधी समस्याओं से छुटकारा 

प्राचीन काल से ही सौंफ को श्वास संबंधित दिक्कतों से छुटकारा पाने के लिए उपयोग में लिया जा रहा है। सौंफ में पाए जाने वाले पोषक तत्व श्वास क्रिया को दुरुस्त बनाने के साथ-साथ फेफड़ों और अस्थमा के लिए भी लाभकारी है। 

यह भी पढ़ें – लौंग खाने के फायदे

मुँह की दुर्गंध दूर करने के लिए लाभदायक 

आज मार्केट में विविध प्रकार के माउथ फ्रेशनर उपलब्ध हैं, परंतु एक किचन गार्डन में पाई जाने वाली सौंफ का सदियों से माउथ फ्रेशनर के रूप में उपयोग किया जा रहा है। हरी सौंफ के कुछ दानों को चबाने से ही मुँह की दुर्गंध जैसी समस्या दूर हो जाती है। सौंफ में पाए जाने वाले गुण बैक्टीरिया को दूर करता है और मुँह के संक्रमणों से भी बचाता है। 

कोलेस्ट्रॉल नियंत्रण में सौंफ खाने के फायदे 

सौंफ में मौज़ूद फाइबर कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में फायदेमंद  है। इसमें मौज़ूद फाइबर कोलेस्ट्रॉल को खून में घुलने से रोकता है। यह दिल की बीमारी से बचाव में भी लाभदायक है। 

सौंफ के ये फायदे काफी नहीं है। इसके अन्य रूप में सेवन करने के भी अनेक लाभ हैं। आप इसको पानी के  साथ मिलाकर या इसकी चाय बनाकर भी पी सकते हैं। सौंफ और मिश्री खाने या इनके मिश्रण का पानी पीने के भी मानव शरीर में अत्यधिक फायदे होते हैं। तो आइये जानते हैं अन्य रूप में सौंफ का सेवन किस प्रकार से फायदेमंद हो सकता है। 

यह भी पढ़ें – एलोवेरा के फायदे

सौंफ का पानी पीने के फायदे

सौंफ का पानी पीने के मानव शरीर में कई तरह से लाभदायक है। यह डाइयुरेटिक यानी मूत्रवर्धक होता है। इसके सेवन से यूरिनेशन बढ़ता है जिसकी मदद से शरीर से टॉक्सिन्स नामक गंदगी बाहर निकलती है। शरीर को अंदर से साफ़ करने के साथ ही सौंफ का पानी पीने के अन्य कई फायदे हैं, जो इस प्रकार हैं :

1. सौंफ का पानी खून साफ़ करने में मददगार है। 

2. ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में सौंफ का पानी फायदेमंद हो सकता है। 

3. यदि आप भूख को कम करना चाहते हैं तो भोजन करने से पहले सौंफ का पानी पीना आपके लिए लाभदायक हो सकता है। 

4.  प्रेगनेंसी के दौरान जी मचलना जैसी समस्याओं के इलाज के लिए यह पानी मददगार होता है। 

5. सौंफ के पानी का सेवन पाचन तंत्र को दुरुस्त करता है और बदहज़मी, एसिडिटी और पेट फूलना जैसी समस्याओं से निजात दिलाता है। 

6. सौंफ के पानी में मौजूद एस्ट्रोजन मासिक धर्म के दौरान होने वाले क्रैम्प्स, दर्द और ऐंठन से निजात पाने में मदद करता है। यह मासिक धर्म चक्र की अवधि को कम करने में भी मददगार साबित होता है। 

7. सुबह खाली पेट सौंफ का पानी पीने से शरीर में मौजूद वसा कम होता है। यह वज़न कम करने में मददगार साबित होता है। 

यह भी पढ़ें – अंजीर के फायदे

सौंफ और मिश्री का पानी पीने के फायदे

1. आँखों की रोशनी बढ़ाने के लिए सुबह खाली पेट सौंफ और मिश्री का पानी पिया जाता है। सौंफ और मिश्री एक साथ खाने से भी आँखों की ज्योति तेज़ होती है। 

2. सौंफ और मिश्री का पानी शरीर की गर्मी कम करने के लिए भी कारगर साबित होता है। ऐसे में नियमित रूप से प्रातः खाली पेट सौंफ का पानी पियें। 

3. इससे नाक से खून निकलने जैसी समस्या को भी कम किया जा सकता है। 

4. सौंफ और मिश्री का पानी याददाश्त को दुरुस्त करने में कारगर साबित होता है। 

5. इस मिश्रण के पानी के सेवन से पेट साफ़ न होना और गैस जैसी समस्याओं  को दूर किया जा सकता है। 

6. लो शुगर लेवल वाले व्यक्ति के लिए यह पानी चमत्कारी साबित हो सकता है। इससे शुगर बढ़ सकता है। 

यह भी पढ़ें – मेथी के फायदे

सौंफ खाने से नुकसान

जिस तरह किसी भी चीज़ का अत्याधिक उपयोग नुकसानदायक सिद्ध हो सकता है, ठीक उसी तरह सौंफ के सेवन के साथ भी है। इसका आवश्यकता से अधिक सेवन करना हानिकारक साबित हो सकता है। तो आइये जानते हैं सौंफ खाने के नुकसान। 

1. सौंफ का अत्यधिक सेवन एलर्जी का कारण बन सकता है। यदि आपको छींक की समस्या है तो आपको सौंफ का सेवन करने से बचना चाहिए। साथ ही अगर आप किसी तरह की दवाइयों का सेवन कर रहे हैं तो सौंफ खाना आपके लिए हानिकारक हो सकता है। 

2. सौंफ खाने से स्किन अधिक संवेदनशील हो जाती है और स्किन की समस्याएँ बढ़ जाती हैं। 

3. स्तनपान कराने वाली महिलाओं को सौंफ का सेवन करने से बचना चाहिए। इससे शिशु और माँ दोनों की सेहत पर बुरा असर पड़ता है। यहाँ हमने जाना सौंफ से होने वाले फायदे (Saunf Khane Ke Fayde) और कुछ नुकसान के बारे में। याद रखें कि किसी भी चीज़ की सही प्रतिक्रिया के लिए आवश्यक है कि आप उसका सही रूप में और सही मात्रा में इस्तेमाल करें।

यह भी पढ़ें – हल्दी के फायदे

सन्दीप शाह

सन्दीप शाह दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक हैं। वे तकनीक के माध्यम से हिंदी के प्रचार-प्रसार को लेकर कार्यरत हैं। बचपन से ही जिज्ञासु प्रकृति के रहे सन्दीप तकनीक के नए आयामों को समझने और उनके व्यावहारिक उपयोग को लेकर सदैव उत्सुक रहते हैं। हिंदीपथ के साथ जुड़कर वे तकनीक के माध्यम से हिंदी की उत्तम सामग्री को लोगों तक पहुँचाने के काम में लगे हुए हैं। संदीप का मानना है कि नए माध्यम ही हमें अपनी विरासत के प्रसार में सहायता पहुँचा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: यह सामग्री सुरक्षित है !!